Posts

Showing posts from June, 2017

#Playwright and #theatre #actor #ManjulBhardwaj at his residence in Kandivali Mumbai ... PIC source #Hindustan Times ...

Image

भारत के प्रयोगशील रंगकर्मी मंजुल भारद्वाज ने अपने नए नाटक 'राजगति" से जगाई युवा में राजनीति की नई चेतना

Image
रंगचिन्तक मंजुल भारद्वाजलिखित एवम् निर्देशितनाटक "राजगति" ने बदली मेरी राजनैतिक अवधारणा - केशव

"हमेशा से ही सुनता आया था कि राजनीति बहुत गन्दी है, एक गटर की तरह है। आस पास के माहौल को हमेशा राजनीति के ख़िलाफ़ ही पाया था। 2011 में अन्ना आंदोलन और फिर आप के गठन के दौरान लगने लगा था कि इसे साफ़ किया जा सकता है, पर फिर कुछ समय के बाद ये लगने लगा कि ये सच में बहुत गन्दी है और अच्छे से अच्छे व्यक्ति को भी बिगाड़ देती है। राजनीति का इतिहास ऐसे लोगों से भरा पड़ा है जो राजनीति में ईमानदारी पूर्वक संघर्ष करके आए मगर बाद में पथभ्रष्ट हो गए। जिससे यही लगने लगा की राजनीति में ही कोई बुराई है जो लोगों को भ्रष्ट कर देती है। 
जब मैंनेरंगचिन्तक मंजुल भारद्वाजलिखित एवम् निर्देशितऔर अश्विनी नांदेडकर , कोमल खामकर और तुषार म्हस्के अभिनीत नाटक "राजगति" को देखा, उस पर विचार किया तो ये समझ में आया कि राजनीति बुरी नहीं है, वो तो सत्ता और व्यवस्था के गठजोड़ से उत्पन्न बुराइयां हैं जिन्हें राजनीति के सर पर डाल दिया जाता है। हमारे राजनेता सत्ता प्राप्त करने के बाद इस व्यवस्था की मदद से राजनीति को …